अपने एनड्राईड मोबाईल पर इ-खबर टुडे को डाउनलोड करे और ताजा खबरो के साथ हमेशा अपडेट रहे डाउनलोड करने के लिये प्ले स्टोर पर ekhabartoday.com टाइप करे ओर डाउनलोड करे ekt

अस्पताल का कायाकल्प करना ही होगा – कलेक्टर

कायाकल्प बैठक में जताई घोर नाराजगी

रतलाम 15 जुलाई(इ खबर टुडे )। जिला चिकित्सालय में पूर्व बैठक में सौपे गये कार्य अब तक पूरे क्यों नहीं किये? बैठक की पूरी तैयारी क्यों नहीं की? काम पूरा करने में आप लोग और कितना समय लेगें? अस्पताल में अब तक गंदी बदबू क्यो आ रही हैं? चिकित्सकों के साथ टीम बनाकर नामजद जिम्मेदारी तय करें। सौपे गये कार्य पूरे न करने पर एफआईआर दर्ज कराने की कार्यवाही की जायेगी।
ये हैं बानगी कलेक्टर श्रीमती तन्वी सुन्द्रियाल की जो उन्होने जिला चिकित्सालय में कायाकल्प बैठक के दौरान चिकित्सकों से कही। कलेक्टर ने घोर नाराजगी व्यक्त करते हुए दो टुक शब्दों में कहा कि चिकित्सकों को भी सौपे गये प्रशासनिक कार्य समय निकालकर करना होगें। अस्पताल की समस्याओं का ब्यौरा प्रस्तुत करने के बजाय साथ-साथ उनका हल भी प्रस्तुत करें और नामजद जिम्मेदारी के साथ समयसीमा तय की जाये। जिला चिकित्सालय में पानी की टंकी को नियमित रूप से सफाई करायें। पानी स्टोर करके क्रमबद्ध रूप से सफाई की जाये। अपशिष्ट प्रबंधन, पानी की प्रबंधन की पूरी व्यवस्था की जाये।
पी.डब्ल्यु.डी. द्वारा प्रस्तुत किये गये व्यय के स्टीमेट का ब्यौरा रोगी कल्याण समिति की बैठक के साथ -साथ जिला योजना समिति में प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाये। बाल चिकित्सालय में पड़ा मलवा हटाया जाये। मंदिर के सामने बगीचे की सफाई कराये। सफाई के ठेकेदार को समक्ष में बुलाकर कलेक्टर ने निर्देशित किया कि रोशनी क्लिनिक के पास और आईसोलेशन वार्ड के सामने की गंदगी तत्काल हटाये। कार्य में कमी की दशा में आपका ठेका तत्काल निरस्त कर दिया जायेगा।

एक मिनट में होगी संविदा सेवा समाप्त
कायाकल्प की बैठक में सब इंजिनियर एनएचएम कामिनी मालवीय के अनुपस्थित रहने पर और अस्पताल की नल की टोटियों में अब तक सुधार न करने पर कलेक्टर ने संबंधित को फोन पर ही जमकर फटकार लगाई। उन्होने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रभाकर ननावरे को निर्देशित किया कि संबंधित कर्मचारी को सेवा समाप्ति का नोटिस जारी करें। सौपे गये कार्य पूरा होने तक किसी भी स्थिति में वेतन आहरण न किया जाये।

जिला मलेरिया अधिकारी को कारण बताओं नोटिस
कलेक्टर ने सिविल सर्जन से पुछा की अस्पताल में नियमित रूप से फोगिंग की जा रही हैं या नहीं? उन्होने कहा कि मरीजों द्वारा शिकायत की गई हैं कि अस्पताल में बहुत अधिक मच्छर है किन्तु अस्पताल में नियमित फोगिंग न होने पर घोर नाराजगी व्यक्त करते हुए बैठक में अनुपस्थित जिला मलेरिया अधिकारी दौलत पटेल को कारण बताओं सूचना पत्र जारी करने के निर्देश सीएचएमओ दिये।

स्टोर प्रभारी ने बताया कि सौपे गये कार्यो में अब तक सोडियम हाईपो क्लोराईड का क्रय कर लिया गया है। संबंधित वार्डो मंे फोगिंग की व्यवस्था कर दी गई है। बायोमेडिकल वेस्ट के निस्तारण के लिये इलेक्ट्रिक हबकटर क्रय कर लिये गये है। अस्पताल में डस्टबीन पर्याप्त संख्या में उपलब्ध करा दिये गये है। हेंडवाश के लिये भी आवश्यक सब व्यवस्था तय कर दी गई है।

सोमवार को रात्री 9 बजे होगी अगली बैठक
कलेक्टर ने बैठक में पर्याप्त तैयारी न होने पर असंतोष व्यक्त किया। उन्होने कहा कि जिला चिकित्सालय के अधिकारी, कर्मचारी अपने स्तर पर पहले ही बैठक आयोजित कर ले और पूर्व बैठक के पालन प्रतिवेदन बनाकर तैयार रखे। जिन-जिन अधिकारी, कर्मचारियांे को बुलाया जाना है। उनकी सूची पहले से बनाकर तैयार कर लें और अपेक्षित अधिकारियों को दूरभाष पर एवं व्यक्तिगत सम्पर्क कर बैठक की पूर्व सूचना दे दी जायें। जो लोग अपना कार्य नहीं कर रहे है। ऐसे लोगोें को कारण बताओं नोटिस देने एवं वेतन रोकने की कार्यवाही पहले से कर दी जाये। बैठक में निगम आयुक्त, सहायक आयुक्त नगर निगम, ई.ई.पी.डब्ल्यु.डी., ई.ई.पी.एच.ई., सिविल सर्जन, आरएमओ सहित समस्त चिकित्सक, सभी वार्डो के मेटरन, मिनिट्स लिखने वाले कर्मचारी, जिला मलेरिया अधिकारी, सब इंजिनियर,एनएचएम आदि की उपस्थिति अनिवार्य रहेगी।

डॉ.दीप व्यास की प्रशंसा की
कलेक्टर ने जिले के सभी चिकित्सकों से कहा कि जिस प्रकार डॉ. दीप व्यास ने अपने कार्यो को सूची बद्ध कर निर्धारित समयसीमा में पूरा किया है। इसी प्रकार से सभी चिकित्सक अपना कार्य समय पर पूरा करंे।

कण्डम वाहन हटाये
कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को जिला चिकित्सालय में पहले से रखे कण्डम वाहन तत्काल हटवाने के निर्देश दिये है। इससे पार्किग की व्यवस्था सुचारू रहेगी। साथ ही परिसर में अन्यत्र रखे वाहनों को भी निर्धारित स्थान पर रखे जाने के निर्देश दिये है।

प्रसुति वार्ड को व्यवस्थित करें
कलेक्टर ने सिविल सर्जन को निर्देशित किया कि लेबर रूम में पार्टेशन की व्यवस्था की जाये जिससे संक्रमण फैलाने वाले मरीजों को अन्यत्र स्थान पर शिफ्ट कर भर्ती किया जाये। ऑनलाईन आर्डर कर सामग्री का क्रय किया जाये। अस्पताल में अस्त-व्यस्त पड़े तारों का उचित प्रबंधन कराया जाये।
बैठक में एडीएम डॉ. कैलाश बुन्देला, निगम आयुक्त एस.के.सिंह., सहायक आयुक्त नगर निगम मालवीय, सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर ननावरे, सिविल सर्जन डॉ. आनंद चंदेलकर, आरएमओ डॉ. नरेश चौहान, जिला क्षय अधिकारी डॉ. ओहरी, डॉ. दीप व्यास, डॉ. कृपालसिंह एवं अन्य अधिकारी, कर्मचारीगण मौजूद थे।

Powered by WordPress | Designed by: diet | Thanks to lasik, online colleges and seo